कॉटन के वैश्विक उत्‍पादन में मामूली कटौती की यूएसडीए ने

वाशिंग्‍टन। अमेरिकी कृषि विभाग (यूएसडीए) ने अपनी दिसंबर महीने की रिपोर्ट में कॉटन के वैश्विक उत्‍पादन अनुमान में कमी की आशंका जताई है। टर्की, अमेरिका और मैक्सिको में कपास के उत्‍पादन में कमी आएगी, हालांकि, पाकिस्‍तान में उत्‍पादन बढ़ने से इसकी भरपाई हो सकेगी। चीन, अमेरिका, टर्की और मैक्सिको में उपयोग घटने से कॉटन की वैश्विक खपत में कमी आएगी। कॉटन के वैश्विक ट्रेड में स्थिरता रहेगी। हालांकि, अंतिम स्‍टॉक में थोड़ी बढ़ोतरी होगी। यूएसडीए ने वर्ष 2023-24 के लिए कॉटन का औसत भाव 77 सेंटस प्रति पाउंड पर स्थिर रखा है।

यूएसडीए ने मार्केटिंग वर्ष 2023-24 (अगस्‍त-जुलाई) में कॉटन का वैश्विक उत्‍पादन 2.45 करोड़ टन रहने का अनुमान आंका है जबकि पिछले महीने यह अनुमान 2.47 करोड़ टन था। वर्ष 2022-23 में यह 2.53 करोड़ टन आंका गया। वर्ष 2021-22 में 2.49 करोड़ टन कॉटन का उत्‍पादन रहा। गांठ में बात की जाए यह उत्पादन अनुमान वर्ष 2023-24 में 11.29 करोड़ गांठ, 2022-23 के लिए 11.66 करोड़ गांठ आंका है जबकि वर्ष 2020-21 के लिए 11.45 करोड़ गांठ था।

यूएसडीए के मुताबिक वर्ष 2023-24 में भारत का कॉटन उत्पादन अनुमान 54.43 लाख टन आंका है। भारत में वर्ष 2022-23 के लिए यह 57.26 लाख टन था। वर्ष 2021-22 में कॉटन उत्‍पादन 52.91 लाख टन था। यूएसडीए ने अपनी ताजा रिपोर्ट में भारत में कॉटन की घरेलू खपत वर्ष वर्ष 2023-24 के लिए 52.25 लाख टन आंकी है जो 2022-23 में 51.17 लाख टन आंकी गई। वर्ष 2021-22 में कॉटन की घरेलू खपत 54.43 लाख टन थी।

भारत का वर्ष 2023-24 में कॉटन का अंतिम स्‍टॉक अनुमान 26.83 लाख टन आंका है जो वर्ष 2022-23 में 25.74 लाख टन रहा। वर्ष 2021-22 में 18.28 लाख टन कॉटन का स्‍टॉक था। भारत से कॉटन का निर्यात वर्ष 2023-24 में 3.92 लाख टन रहने का अनुमान है। वर्ष 2022-23 में यह निर्यात 2.39 लाख टन रहा। भारत से वर्ष 2021-22 में 8.15 लाख टन कॉटन का निर्यात हुआ। भारत का कॉटन आयात वर्ष 2023-24 में 2.83 लाख टन रहने की संभावना है जो वर्ष 2022-23 में 3.76 लाख टन रहा। यह आयात वर्ष 2021-22 में 2.18 लाख टन रहा।

पाकिस्‍तान में वर्ष 2023-24 में कॉटन उत्‍पादन 14.59 लाख टन रहने का अनुमान है। यह वर्ष 2022-23 में 8.49 लाख टन होने का अनुमान है जो 2021-22 में 13.06 लाख टन रहा। पाकिस्तान के वर्ष 2023-24 में 8.71 लाख टन और वर्ष 2022-23 में 9.80 लाख टन कॉटन आयात करने की संभावना है जो वर्ष 2021-22 में भी 9.80 लाख टन रहा। पाकिस्‍तान की कॉटन की घरेलू खपत वर्ष 2023-24 में 21.77 लाख टन रहने का अनुमान है जो वर्ष 2022-23 में 18.94 लाख टन रहने का अनुमान है। यह वर्ष 2021-22 में 23.30 लाख टन थी। ब्राजील में वर्ष 2023-24 में 31.70 लाख टन और वर्ष 2022-23 में 25.52 लाख टन कॉटन पैदा होने का अनुमान है। जबकि वर्ष 2021-22 में 23.56 लाख टन कॉटन पैदा हुई थी। अमेरिका में वर्ष 2023-24 में 27.82 लाख टन (पिछले महीने 28.50 लाख टन) और 2022-23 में 31.50 लाख टन कॉटन की उपज होने का अनुमान है। यह उपज वर्ष 2021-22 में 38.15 लाख टन रही। चीन में वर्ष 2023-24 में 58.79 लाख टन और वर्ष 2022-23 में 66.84 लाख टन कॉटन उत्‍पादन का अनुमान है। यह वर्ष 2021-22 में 58.35 लाख टन थी। टर्की में वर्ष 2023-24 में 6.97 लाख टन और वर्ष 2022-23 में 10.67 लाख टन कॉटन पैदा होने का अनुमान है। जबकि, अन्य देशों में कॉटन का उत्पादन वर्ष 2023-24 में 40.45 लाख टन और वर्ष 2022-23 में 41.04 लाख टन होने की संभावना है जो वर्ष 2021-22 में 42.36 लाख टन रहा।

वर्ष 2023-24 में ब्राजील का कॉटन निर्यात 25.04 लाख टन, अमेरिका का 26.56 लाख टन, आस्‍ट्रेलिया का 12.30 लाख टन रहने का अनुमान है। जबकि, वर्ष 2022-23 में ब्राजील से कॉटन निर्यात 14.49 लाख टन, अमेरिका से 27.79 लाख टन, आस्‍ट्रेलिया से 13.43 लाख टन रहने की संभावना है। चीन का कॉटन आयात वर्ष 2023-24 में 23.95 लाख टन रहने की संभावना है जो वर्ष 2022-23 में 13.57 लाख टन रहने का अनुमान है। बांग्लादेश का आयात मार्केटिंग वर्ष 2023-24 में 16.33 लाख टन, वर्ष 2022-23 में 15.24 लाख टन, वियतनाम का आयात वर्ष 2023-24 में 14.59 लाख टन, वर्ष 2022-23 में 14.09 लाख टन का अनुमान है। पाकिस्तान वर्ष 2023-24 में 8.71 लाख टन कॉटन आयात कर सकता है जो वर्ष 2022-23 में 9.80 लाख टन रहने की संभावना है। इंडोनेशिया वर्ष 2023-24 में 5.01 लाख टन कॉटन का आयात कर सकता है जो वर्ष 2022-23 में 3.62 लाख टन रहने का अनुमान है।

चीन का अंतिम स्टॉक वर्ष वर्ष 2023-24 में 84.50 लाख टन और वर्ष 2022-23 में 81.43 लाख टन रहने का अनुमान है। वर्ष 2023-24 में ब्राजील में 12.05 लाख टन कॉटन का अंतिम स्‍टॉक रह सकता है जो वर्ष 2022-23 में  12.53 लाख टन रहने का अनुमान है। समूची दुनिया का फसल वर्ष वर्ष 2023-24 के लिए अंतिम स्‍टॉक 179.40 लाख टन रहने का अनुमान है जो वर्ष 2022-23 के लिए 180.35 लाख टन रह सकता है। यह वर्ष 2021-22 में 166.21 लाख टन था।

दुनिया भर में वर्ष 2023-24 में 320.1 लाख हैक्टेयर में कपास की खेती होने का अनुमान है। यह खेती 2022-23 में 317.5 लाख हैक्टेयर और 2021-22 में 323.3 लाख हैक्‍टेयर में हुई। भारत में कपास का बुवाई अनुमान वर्ष 2023-24 में 127 लाख हैक्‍टेयर में रहने का अनुमान है जो वर्ष 2022-23 में 129.3 लाख हैक्टेयर में रही। जबकि, वर्ष 2021-22 में 123.7 लाख हैक्टेयर में बुवाई हुई थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top